हरतालिका तीज व्रत से पहले ये चीजें खाएं, न भूख लगेगी न प्यास

हरतालिका तीज भाद्रपद माह के शुक्ल पक्ष की तृतीया को मनाई जाती है. हरतालिका तीज का महाव्रत इस बार 9 सितंबर को है. महिलाएं इस दिन निर्जला व्रत रखती हैं और माता पार्वती और भगवान शिव की पूजा करती हैं. करवाचौथ की तरह यह व्रत भी पति की लंबी उम्र की कामना के लिए होता है. पूरे दिन पानी ना पीने की वजह से कुछ महिलाओं को कमजोरी महसूस होती है. हरतालिका तीज व्रत की शुरूआत सूर्योदय से पहले की जाती है. आज हम बताने जा रहे हैं कि आप क्या खाएं और पिएं जिससे आपको दिन भर भूख-प्यास ना लगे और आपका व्रत आसानी से पूरा हो जाए. आइए जानते हैं क्या हैं ये चीजें.

इन चीजों को खाने से बचें

हरतालिका तीज व्रत रखने के एक दिन पहले महिलाएं ज्यादा तला-भुना खा लेती हैं, ​लेकिन इसके बाद निर्जला व्रत के दौरान उन्हें बहुत परेशानियां होती है. पूरे दिन गला सूखता है, भूख लगती है, तो आपको बता दें कि व्रत से एक दिन पहले तला-भुना खाने से बचें. व्रत से एक दिन पूर्व आप दिन में रोज की तरह हल्का भोजन लें. जैसे खिचड़ी, हरी सब्जियों को अपने खाने में शामिल करें. बहुत से लोग शाम को रबड़ी या मिठाई खा लेते हैं, इसके सेवन से व्रत के दौरान प्यास बहुत लगेगी.

अनार का जूस और ताजे फलों का करें सेवन

व्रत शुरू करने से पहले आप अनार खा सकती हैं या फिर अनार का जूस पी सकती हैं. इससे आपको एनर्जी मिलेगी. अनार के जूस से विटमिन सी की डेली जरूरत का 40 फीसदी हिस्सा पूरा हो जाता है और इसके सेवन से प्यास बहुत कम लगती है. ताजे फलों में पानी की मात्रा काफी अधिक होती है. ताजे फल खाने से आपको दिन भर शरीर में हाइड्रेशन की कमी महसूस नहीं होगी. खासतौर पर आप चाहें तो साइट्रस यानी खट्टे फलों को खा सकते हैं, ताकि व्रत वाले दिन प्यास न लगे.

ड्राई फ्रूट्स और नारियल पानी

काजू, बादाम, किशमिश और पिस्ता जैसे ड्राई फ्रूट्स आपको व्रत वाले दिन एनर्जी से भरपूर रखेंगे. लिहाजा आप पोषक तत्वों से भरपूर ड्राई फ्रूट्स का सेवन करें. इसके अलावा यदि आप व्रत शुरू करने से पहले नारियल पानी पी लें तो दिनभर आपका शरीर हाइड्रेटेड रहेगा और निर्जल व्रत के बावजूद शरीर में पानी की कमी नहीं होगी. एक्सपर्ट्स की मानें तो नारियल पानी शरीर की इम्यूनिटी भी बढ़ाता है.

हरतालिका तीज का शुभ मुहूर्त (Hartalika Teej kab hai):

प्रातःकाल हरितालिका व्रत पूजा मुहूर्त- सुबह 6 बजकर 3 मिनट से सुबह 8 बजकर 33 मिनट तक
प्रदोषकाल हरितालिका व्रत पूजा मुहूर्त- शाम 6 बजकर 33 से रात 8 बजकर 51 मिनट तक
तृतीया तिथि प्रारंभ- 9 सितंबर 2021, रात 2 बजकर 33 मिनट से
तृतीया तिथि समाप्त- 10 सितंबर 2021 रात 12 बजकर 18 तक

About Daisy

Check Also

गणपति को जरूर चढ़ाएं उनकी ये प्रिय चीजें, पूरी कर देंगे सारी मनोकामनाएं

भाद्रपद महीने के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी को गणेश चतुर्थी (Ganesh Chaturthi) मनाई जाती है. …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *